जिनसेंग है सभी जड़ी बूंटियो का बाप Benefits of Ginseng in Hindi

0
198
Benefits of Ginseng in Hindi

Hello reader’s

आज आप इस लेख में जानेंगे। कि जिनसेंग का पौधा क्या है। और कहाँ पाया जाता है। इसके क्या – क्या फायदे (Benefits of Ginseng in Hindi)और नुकसान है। इसका प्रयोग हम किस प्रकार कर सकते है। और इससे कौन – कौन सी बीमारियाँ ठीक होती है।

Benefits of Ginseng in Hindi
Image Source Google


जिनसेंग का पौधा आयुर्वेदिक ओषधियों में बहुत प्रसिद्ध हो गया है। इसका सिर्फ एक ही कारण है। कि इसके गुणकारी और चमत्कारी फायदे – ही – फायदे। जिनसेंग का पौधा प्रत्येक स्थान पर मिल जाता है। इसकी पत्तियां हल्के पिले रंग और छतरी के आकर की होती है। जिनसेंग पौधे की जड़ छोटी और मुलायम होती है। इसको अमेरिकी जिनसेंग के नाम से भी जाना जाता है। इसके फूल जून और जुलाई के महीने में लगते है। यह पौधा बारामासी हरा रहता है। इसकी आयु लगभग 5 से 7 साल की होती है। यह पौधा बहुत ही लाभकारी और गुणकारी माना जाता है।

जिनसेंग के प्रकार (Types of Ginseng in Hindi)

यह पौधा बहुत ही गुणकारी और चमत्कारी है। इसके तीन प्रकार है, जो निम्नलिखित है-

  • ताजा पौधा
  • लाल पौधा
  • सफेद पौधा
  • ताजा पौधा

जब इस पौधे कि आयु दो से तीन साल की होती है। तब यह ताजा पौधा कहलाता है। उस समय इसमें बहुत अधिक फायदेमंद गुण पाए जाते है। जिसका सेवन करने से व्यक्ति को बहुत जल्दी फायदा होता है। उस समय इसकी जड़ो और पत्तियों का रस निकलकर प्रयोग में लिया जाता है।

  • सफेद पौधा

जब इस पौधे की उम्र तीन से पांच साल की हो जाती है। उस समय इसकी जड़ो और पत्तियों को सुखाकर इसका पाउडर बनाया जाता है। और बाद में इसका इस्तेमाल किया जाता है। इस पौधे के केप्सूल भी बनाये जाते है। जिनका भी प्रयोग भी किया जाता है। लेकिन उनका इतना अधिक फायदा नहीं होता है। जितना की जड़ी – बूंटी और रस के सेवन करने से होता है।

  • लाल पौधा

जब इसकी आयु 6 साल या इससे अधिक हो जाती है। तो इसको काटा जाता है। बाद में इसकी जड़ो और छालों को पानी में उबालकर सुखाकर उनका पाउडर और आयुर्वेदिक गोलिया बनाई जाती है। जिनका प्रयोग आप लम्बे समय तक कर सकते है। इसका प्रयोग करने से व्यक्ति की थकान, सर दर्द, जोड़ो का दर्द, प्रतिरोधक क्षमता का कम होना, मधुमेह और कैंसर आदि अनेक खतरनाक बीमारियों से छुटकारा मिलता है।

जिनसेंग पौधे का उपयोग (Use of Ginseng in Hindi)

हर्बल दवाइयों में इस पौधे की जड़ो का प्रयोग बहुत अधिक मात्रा में किया जाता है। इसके साथ – साथ हम इसका प्रयोग चाय, केप्सूल, गोलियों, जड़ो और पत्तियों को सुखाकर पाउडर भी बनाया जाता है। और इसकी पत्तियों का रस निकलकर प्रयोग कर सकते है। इसका प्रयोग हम सर्दियों के मौसम में बहुत अधिक मात्रा में करते है। इसके साथ – साथ इसका प्रयोग बांझपन, अपच,थकान, सर दर्द, जोड़ो का दर्द, प्रतिरोधक क्षमता का कम होना, मधुमेह और कैंसर आदि बीमारियों में अलग – अलग मात्रा में किया जाता है।

Benefits of Ginseng in Hindi

यह एक चमत्कारी लोकप्रिय पौधा है। यह ज्यादातर ब्राजील, साइब एरिया और कोरिया में अधिक पाया जाता है। जिनसेंग एक स्वास्थ्यकारी पर्दार्थ है। जिसकी जड़ गुद्देदार होती है। जिनसेंग पौधे की जड़ी – बूंटिया आपके स्वसस्थ्य और सौंदर्य को विभिन रूपों से प्रभावित करती है।
इसके फायदे निम्नलिखित है।

Benefits of Ginseng in Hindi
Image Source Google

स्मरण शक्ति को बढ़ाना

इस पौधे का आप किसी न किसी रूप में प्रयोग अवश्य करें। आप को बहुत अधिक लाभ मिलेगा। इससे आपकी स्मरण शक्ति तेज हो जाती है। आप जो एक बार पढ़ लेते हो, वह लम्बे समय तक याद रहता है। ध्यान रहे की आप इसका प्रयोग लगातार और लम्बे समय तक करें।

तनाव और थकान को करें दूर

लगातार कुछ दिनों तक जिनसेंग के पौधे की बनी, चाय पीने से आप का मानसिक तनाव और शारीरिक तनाव दूर हो जायेगा। इसके सेवन से आप कभी – भी आलस भरा जीवन व्यतीत नहीं करोगें।

स्वस्थ त्वचा के लिए

अपने चेहरे को स्वस्थ व सुंदर रखने के लिए आप कुछ दिन लगातार जिनसेंग का प्रयोग करें। आप इसका प्रयोग पाउडर, केप्सूल या चाय के रूप में भी कर सकते है।

पाचन शक्ति

इससे आपकी पाचन शक्ति बढ़ती है। और खाया हुआ भोजन अच्छी तरह पचता है। इसलिए आप जिनसेंग का प्रयोग अवश्य करें। यह आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है।

उम्र बढ़ाये

इसका लगातार और उचित मात्रा में प्रयोग करते रहने से आप कि उम्र में बढ़ोतरी होती है। इसमें ऐसे तत्व, विटामिन्स और मिनरल्स पर्दार्थ पाएं जाते है। जो शरीर को स्वस्थ तथा शक्तिशाली बनाये रखते है।

मधुमेह

जिनसेंग मधुमेह रोग का सबसे उत्तम और लाभकारी उपचार है। इसमें ऐसे चमत्कारी कार्बनिक पर्दार्थ और गुण पाएं जाते है। जो मधुमेह के रोग को जड़ से खत्म करने का काम करते है। लेकिन इसके लिए आप को जिनसेंग का प्रयोग लगातार और लम्बे समय तक करना होगा।

weight loss (Benefits of Ginseng in Hindi)

इसमें ऐसे तत्व पाएं जाते है। जो मोटापे को कम करते है। इसका प्रयोग करने से आप आसानी से अपने शरीर में फर्क देख सकते हो। इसके लिए आप जिनसेंग कि चाय, पाउडर और केप्सूल का यूज़ कर सकते है।

योन संबंधी

जिनसेंग के केप्सूल और पॉउडर का लगातार प्रयोग करने से, योन संबंधित समस्याओं से छुटकारा मिलता है। ध्यान रहें, कि इसका प्रयोग आप लगातार और सही मात्रा में ही करें।

बालों को उगाये

जो लोग गंजेपन से परेशान है। जिनके बाल कम है, या सफेद है। उनके लिए जिनसेंग का प्रयोग बहुत ही लाभकारी माना जाता है। इसका लगातार प्रयोग करने से आप के बाल काले व उगने शुरू हो जायगे।

रक्त को करें साफ

लगातार जिनसेंग का प्रयोग करने से रक्त साफ होता है। इससे नया खून भी बनता है। रक्त साफ होने से हमे कई बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है।

कैंसर

एक रिसर्च से पता चला है। कि जिनसेंग में ऐसे कार्बनिक पर्दार्थ और गुणकारी तत्व पाएं जाते है। जो कैंसर के प्रभाव को रोकते है। यदि लगातार इसका प्रयोग करें। तो कैंसर जैसी बीमारी से आप छुटकारा पा सकते है।

ऊर्जा के स्तर को बढ़ाना

इसमें ऐसे कार्बनिक पर्दार्थ पाएं जाते है। जो हमारे शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाते है। इससे हमारे शरीर में शक्ति उतपन होती है। जिससे हम अपने जीवन में आने वाली कठिनाइयों का ठटकर सामना करते है। और अपने जीवन में सफलता हासिल करते है।

These all are Benefits of Ginseng in Hindi.

जिनसेंग के नुकसान और सावधानियाँ (Side Effects Of Ginseng in Hindi)

यह एक मसाला होता है। जिसका प्रयोग आप अपने भोजन में करते है। इसका प्रयोग आप को एकदम से अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए। ध्यान रहें। कि जिस समय आप इसका प्रयोग करते है, तो इसकी मात्रा का ध्यान जरूर रखे।

  • नींद की समस्या ।
  • पेट में दर्द ।
  • रक्तचाप में परिवर्तन ।
  • सर दर्द ।
  • चक्कर आना ।
  • मुँह सुखना ।
  • एलर्जी होना।
  • गर्भवती महिलाओं को जिनसेंग का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

आमतोर पर ये लक्षण बहुत कम और हल्के होते है। लेकिन आप जिनसेंग का प्रयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें।

Sea Buckthorn का पौधा है संजीवनी बूंटी के समान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here