बिच्छू के काटने पर करे ये उपाए – Bichhoo katne par desi ilaj in hindi

1
101
bichhoo katne par desi ilaj in hindi

Welcome our Website Healthy Dunia.
आज हम इस लेख में जानेगे। कि बिच्छू के काटने पर हमे क्या करना चाहिए। और जब बिच्छू किसी व्यक्ति या बच्चे को काट ले। तो उस समय क्या – क्या लक्षण उत्तपन होते है। इसके जहर को कम करने के लिए हमे क्या – क्या करना चाहिए। इससे हमारे शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है। जानिए इस किट – कीड़े के काटने से जुडी सभी बातें इस लेख में ।

 bichhoo katne par desi ilaj in hindi
Image Source Google

बिच्छू यह देखने में छोटा – सा कीड़ा लगता है। लेकिन इसका जहर बहुत अधिक खतरनाक होता है। कई बार तो बिच्छू के काटने पर व्यक्ति की मृत्यु भी हो जाती है। इसमें जहर बहुत अधिक पाया जाता है।

बिच्छू के काटने पर होने वाले लक्षण – Bichhoo katne par hone vale lkshan in hindi

जब किसी व्यक्ति को बिच्छू काटता है। तो उसको निम्नलिखित लक्षण उत्तपन होते है।

  • जिस व्यक्ति या बच्चे को बिच्छू काटता है। उसको उस जगह बहुत तेज दर्द होता है।
  • काटने वाला स्थान सूज जाता है।
  • कई बार तो जिसको बिच्छू ने काटा है। उसके न तो सूजन उतपन होती है। और न ही दर्द।
  • बिच्छू के काटने पर उल्टी , पसीना व मुँह में झाग आना।
  • माँसपेशियों में दर्द।
  • सर में दर्द।
  • जी – मिचलाना।
  • अनियमित ह्दय की दर का होना।
  • साँस लेने में परेशानी।
  • खाने – पीने व बोलने में परेशानी।
  • काटने वाले स्थान पर जलन और चुंबन।

क्या करे उपाए – bichhoo katne par desi ilaj in hindi

जब किसी व्यक्ति को किसी ऐसे स्थान पर बिच्छू काट ले। जहाँ आस – पास कोई डॉक्टर या अस्पताल न हो । तो आप सबसे पहले क्या करे ।तो ध्यान से जानना – जिस स्थान पर बिच्छू ने काटा है। उस स्थान से ऊपर व नीचे के हिस्से को किसी कपड़े से बांध दे। ऐसा करने से जहर पुरे शरीर में नहीं फैलता है।

इसके अलावा आप पुदीने के पत्तों को पीस कर बिच्छू के काटे हुए स्थान लगा दें और साथ ही उसे पुदीना का रस भी पिला दें।ऐसा करने से बिच्छू का जहर बहुत जल्द उतर जाएगा।

इसके अलावा फिटकरी के इस्तेमाल से भी बिच्छू के ज़हर को उतारा जा सकता है, इसके लिए फिटकरी को पानी में घिसकर बिच्छू के काटे हुए स्थान पर लगा दें। और गर्म कपडे से सेके। ऐसा करने से बिच्छू का जहर पूरे शरीर में नहीं फैलेगा। और उसका जहर जल्द ही शरीर से उतर जाएगा। और व्यक्ति की जान भी बच जाएगी।

What is Silicea 200 – Bichhoo katne par desi ilaj in hindi

यह एक होम्योपैथिक दवा है। यह दवा बहुत ही सस्ती और कारगर है। यह 5 ml की दवा सिर्फ 10 रुपय में आती है। इसकी सहायता से बिच्छू के डंक को आसानी से बहार निकाला जा सकता है। इसके लिए आपको यह दवा एक – एक बूँद 10 – 10 मिनट के अंतराल में तीन से चार बार घाव पर लगानी है। इसकी सहायता से आप सिर्फ आधा घंटे में ही रोगी को आराम दिलवा सकते है। यह दवा आपके घर में होनी – ही चाहिए।

यह अन्य निम्नलिखित कारणों में काम आती है।

  • जब किसी के सिलाई मशीन की सुई ऊँगली में लग जाये। और टूट भी जाएं। तो ऐसी स्थिति में आप इस दवा की सहायता से वह सुई असानी से निकल सकते है।
  • मधुमक्खी के काटने पर
  • ततईया मक्खी के काटने पर।
  • कांच शरीर के किसी भी भाग में घुस जाने पर।
  • कांटा ऊँगली या हाथ में चुभ जाएं।
  • आधा कांटा हाथ या पैर में टूट जाएं।

यह बहुत अच्छी दवा है। जो बहुत तेज दर्द को असानी से खत्म कर सकते हो।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here