Hello Friend’s

Welcome in my Website Healthydunia .in.

आज हम जानेंगे। कि अस्थि संस्थान (What is Body System) क्या होता है। और मुख्यत इसके किनते भाग होते है। इसका हमारे शरीर में क्या महत्व होता है। चलो जानते है कि आखिर क्या होता है मानव अस्थि संस्थान।There are four Types of Human Body System.

Types of Human Body System
Image Source Google

अस्थि संस्थान (Body System)

शरीर के शारीरिक ढांचे को अस्थि संस्थान (Body System) कहते है। हमारा शरीर 224 छोटी – मोटी हड्डियों से बना हुआ है। हमारे शरीर में हड्डियों का विशेष महत्व होता है। यह हमारे शरीर को आकर देती है। तथा मांस – पेशियों द्वारा जुड़ा रहने के कारण शरीर में हरकत पैदा करती है। इनके सहारे ही हमारा शरीर हिलता – डुलता व काम करता है। हड्डिया ही शरीर के अंदर सभी अंगों कि रक्षा करती है। यह शरीर के सभी अंगों को सहारा देती है। और शरीर को सीधा रखती है।

Types of Human Body System

Types of Human Body System
Image Source Google

अस्थि संस्थान (Body System)के चार बड़े भाग है। These are types of Human Body System.

  • खोपड़ी (Skull)
  • रीढ़ की हड्डी (Vertebral Column)
  • सीने की हड्डी (Thorax)
  • शाखाएं- टांगे तथा बाजू (Limbs)

खोपड़ी (Skull)

इसमें चेहरे और सिर की हड्डिया शामिल है। खोपड़ी आठ भिन्न – भिन्न हड्डियों की बनी हुई है। और चेहरा 14 हड्डियों का बना हुआ है।जो निचले जबड़े के अतिरिक्त सब अचल होती है। और खोपड़ी के साथ जुड़ी रहती है।

रीढ़ की हड्डी (Vertebral Column)

यह खोपड़ी के पीछे की ओर गर्दन में से शुरू होती है। इसमें 33 भिन्न – भिन्न हड्डियाँ होती है। ये हड्डियाँ एक – दूसरे पर मीनार की भांति लगी हुई होती है। रीढ़ की प्रत्येक हड्डी को (Vertebra) या मोहरा कहते है। रीढ़ की हड्डी ही शरीर का स्तम्भ है। यह हर Hip Bone से जुड़ी हुई होती है। ओर हर Hip Bone के साथ टांगों की हड्डी होती है।

सीने की हड्डी (Thorax)

यह हड्डियों का एक पिंजरा – सा होता है। यह पिंजरा पीछे से 12 मोहरों(Dorsal Vertebra), आगे छाती की हड्डी (Sternum) तथा 24 पसलियों से मिलकर बना हुआ है।
इस पिंजरे में दिल तथा फेफड़े सुरक्षित रहते है। छाती के ऊपर सामने की ओर हंसली (Collarbone) तथा पीछे कंधे की हड्डी (Scapula) के साथ बाजू जुड़े हुई होते है।

बाजू तथा टांगों की हड्डी (Limbs)

मानव शरीर(Human Body System) में दो शाखाएं होती है- ऊपरी शाखा यानि बाजू (Upper Limbs) और नीचे की शाखा यानि टांगे (Lower Limbs)।

बाजुओं की हड्डी-

  • प्रगंड अस्थि – बाजू के ऊपरी भाग की हड्डी (Humreus)
  • प्रकोष्ठ अस्थि – निचले भाग की हड्डी(Radius and Ulna)
  • मणिबंध अस्थि – कलाई की हड्डी (Carpals)
  • कारम अस्थि – हथेली की पांच हड्डियाँ (Meta Carpals)
  • प्रत्येक उंगली में 3 तथा अंगूठे में 2 हड्डियाँ (Phalanges)

टांगों की हड्डी –

  • रान की हड्डी (Femur)
  • अन्तज्रघासिथ (Tibia)
  • टखने की 7 हड्डियां (Tarsals)
  • पैर की 5 हड्डियां (Meta Tarsal)
  • पैर की उंगलियों में 3 तथा अंगूठे में 2 हड्डियां (Phalanges)
  • अनूजरघास्थि (Fibula)

जोड़ो के दर्द का कारण, लक्षण और रोगथाम के घरेलू उपाए