जोड़ो के दर्द का कारण, लक्षण और रोगथाम के घरेलू उपाए

10
212
Home remedy for joint pain in hindi

हेलो दोस्तों,
आज हम जानेंगे। कि जोड़ो का दर्द(Joint pain) कब और क्यों होता है। इसके क्या – क्या लक्षणकारण है। और यह रोग हमे किन – किन कारणों से होता है। और हमे अपने शरीर को जोड़ो के रोग से बचाने के लिए किन – किन बातों का ध्यान रखना(jodo ke drd ka ghrelu upaye) चाहिए।Home remedy for joint pain in hindi.

Home remedy for joint pain in hindi
image source google

शरीर के ऐसे हिस्से जहां हड्डियां मिलती हो, जोड़ कहलाता है। जैसे घुटने (knee), कंधे (shoulder), कोहनी(elbow) व टखना (ankle) आदि। जोड़ो का दर्द जिसे मेडिकल की भाषा में आर्थराइटिस भी खा जाता है। घरेलू चिकित्सा द्वारा जोड़ो के दर्द को काफी हद तक दूर किया जा सकता है। अगर घरेलू नुस्खों (Home remedy for joint pain) को नियमित रूप से अपनाया जाएं।

जोड़ो के दर्द का कारण(Cause Joint Pain)

joint pain in hindi

Home remedy for joint pain in hindi
image source google
  • मोच आने से
  • प्रभावित हिस्सों पर ज्यादा जोर डालने से
  • किसी प्रकार की चोट लगने से
  • उम्र बढ़ने के साथ
  • हड्डियों में रक्त की आपूर्ति में रुकावट आना
  • मिनरल्स की कमी
  • विटामिन्स की कमी
  • चोट लगना
  • अर्थराइटिस
  • कार्टिलेज का फटना
  • कार्टिलेज का घिस जाना

जोड़ो के दर्द के लक्षण

  • कमजोरी आना
  • चलने – फिरने में दिक्क्त होना
  • जोड़ो में खिंचाव महसूस होना
  • जोड़ो को मोड़ने में परेशानी होना
  • जोड़ में कठोरता होना
  • जोड़ का लाल होना
  • जोड़ो का न मुड़ना
  • सूजन और दर्द होना

Joint pain का रोगथाम व घरेलू उपाए (Home remedy for joint pain in hindi)

According to health line

Home treatment

Doctors consider both OA and RA to be chronic conditions. There’s no treatment currently available that will completely eliminate the joint pain associated with arthritis or keep it from returning. However, there are ways to manage the pain:

Home remedy for joint pain in hindi

जोड़ो का दर्द होने के कारण व्यक्ति को बहुत अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसको ठीक करने के घरेलू उपचार निम्नलिखित है।

  • तेल मालिश

दर्द वाली जगह पर गहराई से की गयी तेल की मालिश भी दर्द से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा और सस्ता तरीका है। किसी अच्छे तेल से दर्द वाले स्थान पर 20 मिनट तक मालिश करने से बहुत अधिक फायदा होता है, इससे दर्द वाले स्थान से सूजन भी चली जाती है।

  • सेंधा नमक से उपचार

गर्म पानी में सेंधा नमक मिलाकर जोड़ो को उसमे डुबो कर रखें या उस पानी को दर्द वाली जगह पर लगाए यानि पानी को बहाते रहें। सेंधे नमक में मैग्नम सल्फेट होता है जो एंटी आथ्र्राइटिस और एंटी इंफ्लेमेट्री के रूप में जाना जाता है। गर्म पानी से नहाने से रक्त संचार बढ़ जाता है। और जोड़ो का दर्द (joint pain in hindi) कम हो जाता है।

  • प्याज का उपयोग
Home remedy for joint pain in hindi
Image Source Google

प्याज अपने सूजन विरोधी गुणों के कारण घुटनों की पीड़ा में लाभकारी हैं। प्याज में फायटोकेमिकल्स पाए जाते हैं जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। एक रिसर्च में पाया गया की प्याज में पीड़ा निवारण गुण होते हैं।

  • गाजर का इस्तेमाल

इसमें जोड़ो के दर्द को दूर करने के गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। चीन में सैकड़ो वर्षो से गाजर का इस्तेमाल संधिवात पीड़ा के लिए किया जा रहा हैं। गाजर को पीस लीजिये और इसमें थोड़ा – सा नींबू का रस मिलाकर रोजाना सेवन करने से जोड़ो के दर्द में बहुत अधिक आराम मिलता हैं।

  • पारिजात हैं वरदान
Home remedy for joint pain in hindi
Image Source Google

अगर आप के घुटनों की चिकनाई खत्म हो गई हो और जोड़ो के दर्द में किसी भी प्रकार की दवा से आराम ना मिलता हो तो ऐसे लोग हारसिंगार (पारिजात) पेड़ के 12 से 15 पत्तों को कूटकर एक गिलास पानी में उबालें। जब यह पानी एक चौथाई बच जाए तो बिना छानेही ठंडा करके पी ले। 90 दिनों तक इस पानी को पीने से आप के घुटनों की चिकनाई पूरी हो जाएगी। और आप के घुटनों का दर्द गारंटी के साथ ठीक हो जाएगा।

  • एक गिलास पानी में दो चम्मच मेथी दाने को डालकर खूब उबाल लें। जब पानी आधा रह जाए तो इसे छानकर पी लें। इसका उपयोग नियमित रूप से 30 दिनों तक करने से आप के जोड़ो का दर्द बिल्कुल गायब हो जायेगा। मेथी के लड्डू खाने से हाथ – पैरों और जोड़ो के दर्द में आराम मिलता हैं।
Home remedy for joint pain in hindi
Image Source Google
  • 30 साल की उम्र के बाद मेथी खाने से शरीर के जोड़ मजबूत रहते हैं। और यह बुढ़ापे तक मधुमेह, ब्लड प्रेसर और गठिया रोग से बचाता हैं।
  • मेथी दानो को तव्वे या कढ़ाही में गुलाबी होने तक सेकें। ठंडा होने पर पीस लें। इसे रोज सुबह खाली पेट आधा चम्मच, एक गिलास पानी के साथ लें। ध्यान रहें की गर्मी में एक चम्मच व सर्दी में दो चम्मच मेथी का सेवन करना चाहिए।

यह गठिये और जोड़ो के दर्द के मरीजों के लिए काफी लाभदायक होता हैं। क्योंकि इसमें सल्फर और सेलेनियम की मात्रा अधिक पाई जाती हैं। आप लहसुन के दो या तीन फाहे को सरसों या तिल के तेल में तल सकते हैं, जब लहसुन के फाहे काले होने लगें तो आंच बंद कर दें और तेल को भी छान लें। अब इस तेल की दर्द वाले स्थान पर मालिश करने पर दो से तीन घंटे के लिए छोड़ दें, फिर इसको धो लें। रोजाना इसका प्रयोग दो बार करने से कुछ ही दिनों में दर्द से राहत मिल जाएगी।

  • हल्दी का उपयोग
Home remedy for joint pain in hindi
Image Source Google

हल्दी में मौजूद गुण किसी से छिपे नहीं हैं। यह हमारे पुरे शरीर के लिए बहुत लाभदायक माना गया हैं। हल्दी रक्त संचार तेज कर जोड़ो के दर्द में आराम दिलाता हैं। हल्दी चूने का लेप सभी जोड़ों पर लगाया जा सकता हैं। इसे बनाने के लिए एक चम्मच हल्दी पाउडर, एक चम्मच पीसी हुई चीनी, 2 चम्मच चुटकी पान में लगाने वाला चूना और थोड़ा – सा पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लीजिये। इस लेप को लगाकर इसे सूखने दीजिये। फिर रुई लगाकर पट्टी बांध लीजिये। रोज रात को सोने से पहले इसे लगा लें और सुबह पानी से धो लेना चाहिए। ऐसा 10 – 15 दिन तक नियमित रूप से करने से दर्द से राहत मिल जाती हैं।

10 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here