मधुमक्खी के काटने पर क्या करे – madhumakkhi ke katne par sujan kam karane ke lie ghareloo upae

0
40
madhumakkhi ke katne par sujan kam karane ke lie ghareloo upae

Hello Dosto

Welcome our Website Healthy Dunia.
आज आप इस लेख में जानोंगे। कि मधुमक्खी काटने से शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है। और किस प्रकार से मधुमक्खी हमे काटती है। इसके काटने पर सूजन को कैसे कम कर सकते है। वह कितनी मक्खी एक साथ काटने पर व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। जानिए सारी जानकारी इस लेख में। पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको यह लेख अंत तक पढ़ना होगा।

madhumakkhi ke katne par sujan kam karane ke lie ghareloo upae
Image Source Google


क्या आपको पता है। दोस्तों कि मधुमक्खी एक ऐसा जीव है। जो पुरे भारत में पाया जाता है। यह ज्यादातर खेतों और बंद पड़ी जगहों पर अधिक रहती है।

मधुमक्खी

वैसे तो मक्खियों की बहुत सी प्रजातिया पाई जाती है। लेकिन मधुमक्खी बहुत ही खतरनाक मक्खी होती है। जब तक इसको कोई किसी भी प्रकार से न छेड़ता है। तो यह किसी को कुछ भी नुकसान नहीं पहुंचाती है। लेकिन जब इसको कोई छेड़ देता है। तो उसको काटे बिना नहीं छोड़ती है। यह बहुत ही जहरीली मक्खी होती है। madhumakkhi ke katne par sujan kam karane ke lie ghareloo upae

madhumakkhi ke katne par sujan kam karane ke lie ghareloo upae
Image Source Google

मधुमक्खी बेहद गुस्सैल जीव होती है। उसको यह बिल्कुल भी पता नहीं होता है। कि कौन इनका बला चाहता है। और कौन व्यक्ति इनका बुरा। मधुमक्खी की तरह एक दूसरा जीव होता है। जिसको येल्लो जैकेट मक्खी के नाम से जाना जाता है। इसको हम आम भाषा में ततईया मक्खी भी कहते है। इस मक्खी के काटने पर बहुत अधिक जलन होती है। इसका डंक इतना अधिक तेज होता है। कि यह व्यक्ति को रुला देता है। ये मक्खी कम संख्या में एक साथ रहती है। लेकिन इसके साथ ही मधुमक्खी बहुत अधिक संख्या में एक साथ रहती है। जिस कारण से इनको बहुत अधिक खतरनाक माना जाता है।

मधुमक्खी काटने पर होने वाले लक्षण

जब किसी व्यक्ति को मधुमक्खी काटती है। तो उसको निम्नलिखित लक्षणों का सामना करना पड़ता है।

  • काटने वाला स्थान सूज जाता है।
  • व्यक्ति को अधिक मक्खी एक साथ काट ले तो उसको भुखार हो जाता है।
  • उसको उल्टी आने लग जाती है।
  • उसके शरीर में दर्द होने लगता है।
  • शरीर में कमजोरी आ जाती है।
  • व्यक्ति के शरीर का तापमान कम हो जाता है।
  • उसके पुरे शरीर में जलन होने लगती है।
  • कई बार तो व्यक्ति को चककर भी आने लगते है।

बचाव के लिए क्या करे

जैसा कि हम सभी जानते है। और पहले के लोगों कि कहावत भी है। कि – बचाव में ही है समझदारी ।

जब कोई मधुमक्खियों का झुण्ड 20 से 25 फिट की ऊंचाई से होकर उड़ता जा रहा हो । तो आपको जमीन के बल सो जाना चाहिए। वैसे तो यदि आप उड़ते हुए झुण्ड को नहीं छेड़ते है। तो आपको मधुमक्खी कुछ भी नहीं करेगी। लेकिन किसी और ने गलती से भी छेड़ दी और उस समय आप वहा पर रहे। तो आपको वे मधुमक्खियां जरूर कटेगी।

यदि आपके पीछे मधुमक्खियां काटने के लिए लग जाएं। तो आप घबराये मत और तेज दौड़ते जाएं। माना जाता है। कि मधुमक्खियां अपने शिकार के पीछे अधिक नहीं भागती है। यदि आपके पास कोई जैकेट या शर्ट है तो वो निकलकर फेक दे। इससे को मक्खियाँ उस जैकेट या शर्ट की और चली जाती है। और आप की जान बच जाती है।

इसके अलावा आप किसी पानी या कीचड़ में भी गीले हो सकते है। क्योकि मधुमक्खियां पानी और कीचड़ में नहीं काटती है।

जब आपके पीछे मधुमक्खियां लग जाएं। तो आप किसी कमरे में जाकर बंद हो जाएं। या फिर किसी गाड़ी में छुप जाएं और खिड़की को जरूर बंद कर ले। और इसके साथ ही आप किसी कंबल या रजाई से अपने पुरे शरीर को ढक ले। ताकि मधुमक्खियां आपके शरीर तक न पहुंचे। और आप मधुमक्खियों से बच सके।

मधुमक्खी के काटने पर सूजन कम करने के लिए घरेलू उपाए – madhumakkhi ke katne par sujan kam karane ke lie ghareloo upae in hindi

जिस प्रकार सभी बीमारियों के घरेलू उपाए होते है। उसी प्रकार मधुमक्खी के काटने पर सूजन कम करने के लिए घरेलू उपाए निम्नलिखित है।

सबसे पहले आपको यह पता करना चाहिए। कि आपको कितनी जगह पर मधुमक्खियों ने काटा है। और बाद में उन सभी जगहों से मधुमखियों के कांटे को निकाले। और बाद में करे यह –

पट्रोल\ डीजल \मिटटी का तेल लगाए
काटने वाले स्थान को रुई की सहायता से पट्रोल\ डीजल \मिटटी का तेल लगाए। इससे जलन व दर्द कम हो जाता है। और सूजन भी नहीं होती है।

लोह रगड़े
कुछ लोगों का कहना है। कि काटने वाले स्थान पर लोह रगड़ना चाहिए। इससे सूजन नहीं होती है।

कॉलगेट लगाए
काटने वाले स्थान पर आप कोलगेट का भी इस्तेमाल कर सकते है। इससे आपकी सूजन कम हो जाएगी। और काटने वाला स्थान ठंडा हो जायेगा।

बर्फ लगाए
मधुमखियों के काटने वाले स्थान पर बर्फ रगड़ने से सूजन कम होती है।

इसके अलावा आप ब्रेकिंग सोडा, शहद और अचार भी काटने वाले स्थान पर लगा सकते है।

जानिए कितनी मधुमखियां काटने पर व्यक्ति की मृत्यु हो सकती है।

एक स्वस्थ व्यक्ति को एक साथ 500 मधुमखियां काटने पर मृत्यु हो जाती है। लेकिन कई लोगों को जहर बहुत तेजी से चढ़ता है। जिसकी वजह से एक साथ 40 – 50 मधुमक्खियां काटने पर ही मृत्यु हो जाती है।

According to aajtak.intoday.in

कभी मधुमक्खी काट ले तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

मधुमक्खी का शहद जितना मीठा होता है उसका दंश उतना ही घातक. मधुमक्खी अगर डंक मार दे तो उस जगह पर सूजन तो आ ही जाती है साथ ही तेज दर्द भी शुरू हो जाता है. कई बार तो दर्द और जहर के प्रभाव से बुखार भी हो जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here