शराब पहले घूंट से ही क्षतिग्रस्त होने लगते है अंग Side effect of alcohol in hindi

0
124
side effect of alcohol in hindi

Hello Dosto, Welcome my website Healthy Dunia.

नशे की लत शरीर के साथ – साथ दिमाग की सेहत पर भी बुरा असर डालती है। स्वास्थ्य के लिहाज से इस लत का होना धीरे – धीरे जिंदगी को खत्म करना ही है। जानिए कैसे शराब आपके शरीर के भीतर से क्षतिग्रस्त करती जाती है। Side effect of alcohol in Hindi read Continue.

Side effect of alcohol in hindi
Image Source Google

जब आप शराब का पहला घूंट भरते है। उसके मात्र 30 सेकंड के बाद अल्कोहल आपके दिमाग तक पहुंच जाता है। यह उन सभी रसायनों और कार्यप्रणालियों को धीमा कर देता है। जिनका उपयोग दिमाग की कोशिकाएं संदेश भेजने के लिए करती है। इसकी वजह से आपके मूड में भी परिवर्तन आ जाता है। व्यक्ति यानि शराबी की रिफल्क्सेस धीमी पड़ने लगती है। और उसका संतुलन बिगड़ जाता है। उसकी सोचने समझने की क्षमता पर बहुत बुरा असर पड़ता है। और याददाश्त भी कमजोर हो जाती है।

शरीर पर पड़ने वाले दुष्परिणाम (Side effect of alcohol in hindi)

लगातार और ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन। व्यक्ति के शरीर पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। इससे ह्दय की धड़कनों का असंतुलन, लिवर व फेफड़ो का कमजोर होना। किडनी का खराब हो जाना। स्मरण शक्ति का कम हो जाना। व्यक्ति का मानसिक और शारीरिक रूप से कमजोर हो जाना, आदि दुष्प्रभाव पड़ते है।

दिमाग का सिकुड़ जाना

व्यक्ति का लगातार और लम्बे समय तक शराब पीते रहने से दिमाग सिकुड़ जाता है। इससे शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने की प्रक्रिया पर भी बुरा असर पड़ता है। यह नींद की स्थिति पर भी बुरा असर डालता है। व्यक्ति का शरीर रात भर अल्कोहल को प्रोसेस करता रहता है। इस वजह से नींद बार – बार उचटती है। और कई बार आपको बाथरूम के लिए भी जाना पड़ सकता है।

कमजोरी और नॉशिया

अल्कोहल शरीर में पानी की कमी कर देता है। और शरीर तथा दिमाग की खून की नसों को चौड़ा कर देता है। इसके कारण व्यक्ति का सर दर्द होने लगता है। शराबी का पेट अल्कोहल से मिले टॉकिसन्स से निजात पाना चाहता है। और शराबी को नॉशिया और उल्टी की शिकायत होने लगती है। शरीर में शक़्कर की कमी होने लगती है। जिसकी वजह से कमजोरी और कंपकंपी आने लगती है।

ह्दय की धड़कनों का असंतुलन( Side effect of alcohol)

side effect of alcohol in hindi
Image Source Google

केवल एक रात के अल्कोहल का अधिक मात्रा में सेवन दिल की धड़कन को असामान्य कर देता है। रोजाना अल्कोहल के सेवन से यह परिवर्तन स्थाई होने लगता है। इससे दिल की मासपेशियां ढीली और फैल जाती है। इससे खून भी ठीक से पम्प नहीं हो पाता है। अल्कोहल का नियमित सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर करता है। हार्मोन्स में असंतुलन पैदा करने लगता है। इससे शरीर की हड्डिया और मासपेशियां भी कमजोर हो जाती है।

लिवर हो जाता है तार – तार

अल्कोहल को तोड़ने और आगे बढ़ाने की प्रक्रिया में लिवर को कई सारे टॉकिसन्स यानि जहरीले तत्वों को झेलना पड़ता है। समय के साथ अल्कोहल लिवर को फूला हुआ बना देता है। और इसके आस – पास मोटे, फाइबर से भरे ऊतकों का जमाव हो जाता है। इससे खून के भाव में दिक्क्त होने लगती है। कोशिकाएं पोषण के अभाव में खत्म होने लगती है। लिवर पर खरोंचे पड़ने लगती है। और सिरोसिस जैसी गंभीर बीमारी पनप जाती है। और यह लिवर को तार – तार कर देती है।

किडनी खराब ( Side effect of alcohol )

अल्कोहल का लम्बे समय तक और ज्यादा मात्रा में सेवन करने से किडनी का बुरा हाल हो जाता है। दिमाग उस हार्मोन को असंतुलित करने लगता है। जो किडनियों को बहुत अधिक मात्रा में पेशाब बनाने से रोकता है। ऐसे में बार – बार बाथरूम जाने की जरूरत महसूस होती है। इससे हिडाइड्रेशन तो होती ही है। और लम्बे समय में किडनियों की सेहत भी बिगड़ जाती है।

डायबिटीज घेर लेती है

अग्नाशय का काम होता है। इंसुलिन तथा अन्य रसायनों का निर्माण करना। अल्कोहल इसमें बाधा खड़ी करने लगता है। इस अंग में सूजन आ जाती है। और क्षति भी होने लगती है। मतलब शरीर पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बना पाता है। जिस कारण डायबिटीज की स्थिति आ जाती है। यह स्थिति आगे जाकर कैंसर का कारण भी बन सकती है।

एसिडिटी बढ़ती है

अल्कोहल पेट की अंदरूनी दीवार पर इरिटेशन बढ़ जाता है। और पाचक जूस तेजी से उतपन होने लगता है। अल्कोहल और पाचक रस के मिल जाने से नॉशिया जैसी अनुभूति होती है। और उल्टी भी हो सकती है। लम्बे समय तक शराब पीते रहने से पेट में अल्सर हो जाते है। छोटी आंत और कोलोन यानि मलाशय पर बुरा असर पड़ने लगता है। इनमें से भोजन के गुजरने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। इससे डायरिया और सीने में जलन या एसिडिटी जैसी तकलीफें होने लगती है।

समय से पहले बूढ़ा हो जाना

अल्कोहल का लम्बे समय से सेवन करने वाला व्यक्ति सामान्य व्यक्ति से जल्दी मरता है। क्योंकि अल्कोहल धीरे – धीरे व्यक्ति के शरीर को पूरी तरह खत्म कर देती है। जिस कारण व्यक्ति समय से पहले ही बूढ़ा दिखने लगता है।

त्वचा का खराब होना

अल्कोहल में ऐसे रसायनिक और खतरनाक तत्व पाए जाते है। जिससे व्यक्ति के शरीर के साथ – साथ उसके चेहरे और त्वचा पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। मुँह खराब हो जाता है। चेहरे पर झाइयां पड़ जाती है। आँखे भी लाल और मोटी हो जाती है। These are all Side effect of alcohol in Hindi.

कैसे पाएं छुटकारा शराब से

शराब से छुटकारा पाने के लिए दृढ़ मानसिक ताकत की जरूरत होती है। शराब की लत से पीड़ित शरीर नशा टूटने पर हर शाम ठीक उसी वक्त नशे की मांग करने लगता है। मानसिक ताकत बढ़ाने के लिए खुद पर अनुशासन लगाना पड़ता है। इसकी शुरुआत धीरे – धीरे होती है। कई सामाजिक संस्थाएं है, जो शराब छुड़वाने में मरीजों की मदद कर रही है। नशा है मौत का कारण (आप ये जरूर पढ़े)

शराब मुक्ति का एक निश्चय तरीका वैज्ञानिक अनुसाधनों के आधार पर इलाज किया जाता है। इसमें मरीज की शारीरिक और मानसिक मजबूती को तैयार किया जाता है। इसके लिए दवाओं का भी सहारा लिया जाता है। आप ध्यान और योगासन के साथ प्राकृतिक चिकित्सा भी शराब खोरी की लत से मुक्ति दिला सकती है।

आत्मविश्वास को कैसे बढ़ाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here