खून की कमी को पूरा करने के लिए घरेलू उपाए what is anemia in hindi

3
251

Hello Friend’s

आज हम जानेंगे कि (What is Blood in hindi)खून क्या होता है। और इसकी कमी से कौन – कौन से रोग हो जाते है । जब व्यक्ति के शरीर में रक्त कि कमी हो जाती है । तो उसमें कौन – कौन से लक्षण पाए जाते है। खून कि कमी को पूरा करने के लिए हमें क्या – क्या खाना चाहिए। और किन – किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।what is anemia in hindi.

what-is-anemia-in-hindi


खून यानि रक्त लाल रंग का होता है। जो चिपचिपा क्षारीय प्रदार्थ है। इसमें हीमोग्लोबिन (Hemoglobin)कि मात्रा अधिक पाई जाती है । जिस कारण इसका रंग लाल होता है। प्रत्येक व्यक्ति के शरीर में उसके वजन का 7 % भाग रक्त होता है।

एनीमिया (what is anemia in hindi)

हमारे शरीर में दो तरह की रक्त कोशिकाएं होती है सफेद और लाल। जब व्यक्ति के शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं कम हो जाती है। तब शरीर में खून की कमी आ जाती है। जिसे हम एनीमिया कहते है।

  • लोहे की कमी से होने वाले एनीमिया का सबसे अधिक असर छोटे बच्चों व महिलाओं पर अधिक पड़ता है।
  • रक्त की मात्रा कम होने से शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति कम हो जाती है। जिससे व्यक्ति को कई रोगों का सामना करना पड़ता है।
  • हमारे शरीर में लाल रक्त कण के लिए आयरन की मात्रा अधिक होना बहुत जरूरी है।
  • हीमोग्लोबिन एक तरह का प्रोटीन होता है, इसको ही खून की कमी बोला जाता है।
  • आयरन की मात्रा कम होने से हीमोग्लोबिन की मात्रा भी कम हो जाती है।

एनीमिया तीन प्रकार का होता है- Types of anemia in hindi

  • खून की कमी से होने वाला एनीमिया।
  • हेमोलासिस एनीमिया।
  • लाल रक्त कणिकाओं के निर्माण में कमी के कारण होने वाला एनीमिया।

एनीमिया के लक्षण what is anemia in hindi

  • थकान
  • ज्यादा पसीना आना
  • उलटी आना
  • घबरावट
  • साँस लेने में दिक्क्त
  • सर्दी अधिक लगना
  • शरीर का कमजोर हो जाना
  • अस्वस्थता
  • जल्दी सुस्ती आना
  • पैरों और हाथों में सूजन
  • चक्कर आना

घरेलू उपाए (what is anemia in hindi)

व्यक्ति को अपने शरीर में रक्त की पूर्ति करने के लिए हरी व ताजा फल सब्जियाँ खानी चाहिए। इसके साथ उनको अपने रहन – सहन व खान – पान पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए। खून की कमी को पूरा करने के निम्नलिखित उपाए है-

  • अमरुद का सेवन

अमरुद में ऐसे पौष्टिक तत्व पाए जाते है। जो हमारे शरीर में खून की कमी को पूरा करके हमे स्वस्थ रखते है। जितना अधिक अमरुद पका हुआ होगा । उसमें उतना ही पौष्टिक तत्वों की मात्रा अधिक होती है। इससे हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है। महिलाओं के लिए अमरुद बहुत अधिक फायदेमंद होता है।

  • संतरा

संतरे में विटामिन – सी सबसे अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसके साथ इसमें प्रोटीन, कैल्शियम और फॉस्फोरस की मात्रा भी पाई जाती है। जो खून को बढ़ाने व शरीर को रोगों से बचाने के लिए फायदेमंद है।

  • अंगूर

इसमें विटामिन, प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अंगूर खाने से हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है। जिससे खून की कमी भी पूरी होती है। इसको हम सीधा खा भी सकते है । या इसका जूस भी निकालकर सेवन कर सकते है। अंगूर खाने से चेहरे की निखार भी बढ़ती है।what is anemia in hindi.

  • स्ट्रॉबेरी

इसमें विटामिन – सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो खून की मात्रा को बढ़ाता है। इसके साथ यह हमारे दांतों को मजबूत व चमकदार बनाने को सबसे अच्छा स्त्रोत माना जाता है।

केले के फूल में सबसे अधिक मात्रा में आयरन पाया जाता है। जो शरीर में जाकर हीमोग्लोबिन की मात्रा को पूरा करता है। जिससे शरीर में कभी – भी खून की कमी नहीं आती है।

  • सेब

सेब और खजूर खाने से शरीर में हीमग्लोबिन की पूर्ति होती है। क्योंकि इसमें विटामिन और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। एक सेब में लगभग ०,12 प्रतिशत आयरन पाया जाता है। प्रतिदिन एक सेब और 8 से 10 खजूर खाने से एनिमिया रोग जड़ से खत्म होता है।

  • आम

एनिमिया में आम खाना बहुत फायदेमंद माना जाता है। एक गिलास दूध में एक कप आम व एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से बहुत अधिक लाभ मिलता है।

  • पपीता

प्रतिदिन 200 से 250 ग्राम पपीता खाने से खून की कमी दूर होती है। पपीता का सेवन एक महीने लगातार करने से बहुत अधिक फायदा होता है।

  • चीकू

इसमें आयरन की मात्रा अधिक पाई जाती है। प्रतिदिन 3 से 4 चीकू खाने से खून की कमी दूर होती है।

इसमें भी आयरन की मात्रा अच्छी होती है। जो नए ब्लड सेल्स के उत्पादन को बढ़ाती है। एक कप चावल में दो चम्मच मेथी के बीज डालकर पकाये। इसमें स्वादनुसार नमक या मीठा डालकर दिन में एक या दो बार जरूर सेवन करे। ऐसा कुछ दिनों तक करने से आप के शरीर में खून की मात्रा बढ़ जाती है।

  • चुकंदर

चुकंदर खाने से शरीर का रक्त साफ होता है। इससे मुँह पर दाग – दब्बे भी साफ होते है। यदि आप इसका सेवन जूस के रूप में करते है। तो शरीर में रक्त की मात्रा को बढ़ाता है। तथा शरीर को स्वस्थ रखता है।

  • गाजर

प्रतिदिन एक गिलास गाजर का जूस पीने से शरीर के लिए बहुत अधिक फायदेमंद माना जाता है। इससे व्यक्ति की आँखे और शरीर बिल्कुल तंदुरुस्त रहता है। जो व्यक्ति या छोटा बच्चा शरीर में कमजोर और खून की कमी से ग्रस्त है। वह हर – रोज गाजर का जूस पिये या दो – तीन गाजर को खूब चबा – चबाकर खाएं।

  • पालक
  • पालक की सब्जी एनिमिया रोग में दवा के रूप में है। आप लगातार 25 से 30 दिन पालक की सब्जी बनाकर उसमे थोड़ा गाय का घी मिलाकर खाएं । इससे आपके शरीर में खून की मात्रा तेजी से बढ़ने लगती है।

हीमोग्लोबिन की मात्रा को पूरा करने के लिए लहसुन में थोड़ा – सा नमक मिलाकर चटनी बनाएं। इसको खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है । और शरीर में रक्त की कमी पूरी होती है।

  • अंकुरित

अंकुरित चन्ने, गेहूं, मुंग और मोठ खाने से शरीर में ताकत आती है। इनको सुबह नास्ते में नींबू के रस में मिलाकर खाएं। इनको लगातार कुछ दिनों तक कहने से शरीर में खून की कमी दूर होती है। और शरीर जोशीला व मजबूत बन जाता है।

  • गिलोय

शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाने के लिए गिलोय का रस बहुत अच्छा स्त्रोत है। गिलोय का रस आयुर्वेदिक दुकानों पर मिल जाता है।

  • आंवला

आंवला में विटामिन सी और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो शरीर में खून की कमी को पूरा करता है। इससे खून साफ होता है। आंवला व जामुन के रस को बराबर मात्रा में मिलाकर पीने से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है।

  • ड्राई फूड्स (what is anemia in hindi)

बिदाम, पास्ता, काजू और अखरोट खाने से खून में आयरन की मात्रा बढ़ती है। इससे शरीर में ताकत मिलती है। प्रतिदिन ड्राई – फूड्स को खाने से शरीर में कमजोरी नहीं रहती है। और चेहरा चमकने लगता है।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here