जानिए अस्थमा क्या है। इसके कारण लक्षण और बचाव के लिए घरेलू उपाए

0
139
what is asthma and Treatment in hindi

Hello Dosto

Welcome our Website Healthy Dunia.
आज हम इस लेख में जानेंगे। कि अस्थमा क्या है। और यह किस कारण होता है। जब किसी व्यक्ति को अस्थमा होता है। तो उसकी वजह से उसके शरीर पर क्या – क्या प्रभाव पड़ता है। इसके क्या – क्या लक्षण है। इसके लिए हमे किन – किन बातों की और विशेष ध्यान देना चाहिए। और इस बीमारी को ठीक करने के लिए कौन – कौन से घरेलू उपाए है। जानिए पूरी जानकारी विस्तार से इस लेख में।

what is asthma and Treatment in hindi
Image Source Google

यह बीमारी बदलते मौसम के साथ बहुत अधिक फैलती है।

अस्थमा रोग – What is Asthma

अक्सर हम देखते है। कि जब मौसम बदलता है, या धूल – मिट्टी के कारण लोगों को साँस लेने में तकलीफ होती है। उसी को हम अस्थमा कहते है। इसके साथ ही आम भाषा में आम लोग इसको साँस की बीमारी भी कहते है। यह बीमारी बहुत ही भयंकर बीमारी है। यह बीमारी धूम्रपान करने वाले लोगों को सबसे अधिक होती है। इसके साथ समय बदलने के साथ – साथ पर्यावरण में प्रदूषण भी अधिक बढ़ रहा है। जिस कारण भी यह बीमारी बहुत अधिक फैलती है।

अस्थमा रोग के कारण

what is asthma and Treatment in hindi

what is asthma and Treatment in hindi
Image Source Google

अस्थमा की बीमारी फैलने के बहुत कारण है। जिस प्रकार सबसे अधिक यह बीमारी बदलते मौसम में बहुत अधिक और तेजी से फैलती है। जैसे मार्च के बाद गर्मियों की शुरवाती में तथा बारिश के बाद सर्दियों में शुरू में एलर्जी होती है। ऐसे में धूल, मिट्टी – कण व धुँआ कण आदि नुकसान पहुंचाते है। यह बीमारी जन्मजात भी हो सकती है। तथा इसके साथ जब जुकाम व ठण्ड होती है। तो समय पर इलाज न कराने के कारण साँस की नली सूज जाती है।

अस्थमा रोग के लक्षण

अस्थमा बीमारी के निम्नलिखित लक्षण है।
साँस लेने में तकलीफ
साँस कम आना
छाती में साँस लेते समय आवाज का आना
सिर दर्द होना व साँस कम आना
घबरावट आना
होंठ नीले पड़ जाना
उंगलियों का नीला पड़ना

बचाव के लिए क्या करे – what is asthma and Treatment in hindi

अस्थमा रोग से बचने के लिए मौसम के अनुसार कपड़े पहनने चाहिए।
अपने शरीर का मौसम के अनुसार पूरा ख्याल रखना चाहिए।
अच्छा व ताजा भोजन खाना चाहिए।
धूल, मिट्टी से बचे।
शराब न पिए।
धूम्रपान नहीं करना चाहिए।
घर में सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
मसालेदार सब्जियां नहीं खानी चाहिए।
फ़ास्ट फ़ूड व जंक फ़ूड नहीं खाना चाहिए।
रोगी को पूरी नींद लेनी चाहिए।
रोगी का कमरा साफ – सुथरा व हवादार होना चाहिए।

अस्थमा रोग के इलाज what is asthma and Treatment in hindi

जिस प्रकार सभी बीमारियों का इलाज संभव होता है। उसी तरह अस्थमा का इलाज भी संभव है। इसके लिए आपको समय रहते ही डॉक्टर के पास जाना चाहिए। क्योंकि यह एक ऐसी बीमारी है। जो लगातार बढ़ती रहती है। और आगे से आगे दूसरे लोग भी इस बीमारी का शिकार हो जाते है। अत: आपको अस्थमा रोग के लक्षण का पता चलते ही डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

According to webdunia.com

अस्थमा के घरेलू उपचार

लहसुन दमा के इलाज में काफी कारगर साबित होता है। 30 मिली दूध में लहसुन की पांच कलियां उबालें और इस मिश्रण का हर रोज सेवन करने से दमे में शुरुआती अवस्था में काफी फायदा मिलता है।

अदरक की गरम चाय में लहसुन की दो पिसी कलियां मिलाकर पीने से भी अस्थमा नियंत्रित रहता है। सबेरे और शाम इस चाय का सेवन करने से मरीज को फायदा होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here